Dua Mangne Ka Sahi Tarika

Dua Mangne Ka Sahi Tarika.

Dua Mangne Ka Sahi Tarika

Dua Mangne Ka Sahi Tarika,”The prophet Salla has said that while praying, first praise Allah and send me the gourd and confess your sins and if you wish to apologize and pray for the hope of agreeing with the insider (Dua Mangne Ka Sahi Tarika), then the prayer becomes acceptable. The condition is that neither sin nor relationship break up Dua Mangne Ka Sahi Tarika.

Dua’s Qubool is known in three ways: First, the thing to be prayed for should be known immediately; Second, any problem coming from his barkat should be stopped. Thirdly, his blessings will be given to Qiyamat, then that man will see the blessing of his blessings and say, ‘O master! I did not know that I would get so much praise for my prayers. At that time, I wish I had not a single prayer in the world. FOR SEE YOUR FUTURE FALNAMA LIST IN HINDI URDU. Dua Mangne Ka Sahi Tarika.


Allah said:

“Asa takarahu-shayav and hua khairul lakum and asa antuhibbu shayava vahuva sherurallakum vallahu yalamu antum la talamuna”

Whatever you know to be bad and the same practice is better for you and it is also possible that you understand something good, even though it is bad for you, Allah is the only one who knows the right thing. Dua Mangne Ka Sahi Tarika.

In this verse Allah has told that you pray for one thing, you do not know what harm is there for you, although you consider it better for yourself, but it is harmful for you, so we have accepted this prayer. Did not act immediately so that you do no harm. If there is no lack of anything in the treasure of Allah, if all the people of the world will be able to provide the things they have asked for, then there should not be a single particle in its treasure because God has nothing to do with it, he only has to say kun (ho) He becomes. Dua Mangne Ka Sahi Tarika.


Dua Mangne Ka Tarika Bataen:

Nabi Salla said that ask your Lord whatever you need, small or big. He offers everything and Allah gives anger to those who do not pray to Allah. Dua Mangne Ka Sahi Tarika.

At one place, the prophet Salla commanded, unless a man hurries in prayer, his blessing must be accepted. This is to hurry, I started saying that I prayed a lot but God did not accept. Dua Mangne Ka Sahi Tarika. Despite the prayers of some prophets, he came to know after a long time, like Hazrat Noah Alai, when he prayed for his community, wrote that after 60 years the storm came, some say that it came after more than that. In the same way, Hazrat Musa Alai and Hazrat Harun Alai Baddu for Firon, then he accepted that Allah promised:

“Rabbana Wabius Fahim Rasoolam Minhum.

This prayer was accepted, but it was implemented several hundred years later. Nabi Karim Salla said that I am the blessing of my father Hazrat Ibahim Alai and I am the gift of Hazrat Isa Alai. BEST WAZIFA FOR LOVE MARRIAGE IN ISLAM. Dua Mangne Ka Sahi Tarika.

Dua Mangne Ka Tarika Hindi Mai :

नबी सल्ल ने फ़रमाया है की दुआ मांगते समय पहले अल्लाह की प्रशंसा करे मुझ पर दरूद भेजे और अपने गुनाहों का इकरार करे और माफ़ी चाहे और इन्कसारी के साथ कुबूल होने की उम्मीद रखते हुए दुआ करे तो दुआ कुबूल हो जाती है। शर्त यह है कि न गुनाह हो न रिश्ते नाते टूटते हों। Dua Mangne Ka Sahi Tarika.


दुआ के कुबूल होने का पता तीन तरह से होता है पहले जिस चीज की दुआ की जाये उसका पता तुरंत हो जाये दूसरी उसकी बरकत से कोई बला आने वाली रोक दी जाए। तीसरे उसका पवाब क़ियामत को दिया जाएगा तो वह आदमी अपनी दुआ के सवाब को देखकर कहेगा ऐ मालिक! मुझे पता नहीं था कि मेरी दुआ का इतना सवाब मिलेगा। उस समय इच्छा करेगा कि काश दुनिया में मेरी एक भी दुआ कुबूल न होती। Dua Mangne Ka Sahi Tarika.

अल्लाह ने फ़रमाया :

“असा अन तकरहु-शयअव व हुवा खयरूल लकुम व असा अंतुहिब्बु शयअव वहुवा शरुरललकुम वल्लाहु यालमु अन्तुम ला ताअलमूना”

तुम जिस चीज को बुरा जानो और वही अमल तुम्हारे लिए बेहतर हो और यह भी मुमकिन है की तुम किसी चीज को अच्छा समझो हालाँकि व्ही तुम्हारे लिए बुरी हो अल्लाह ही सही बात जानने वाला है तुम बेखबर हो। Dua Mangne Ka Sahi Tarika.

इस आयत में अल्लाह ने बताया है की एक चीज की दुआ तुम करते हो तुम्हे उसकी खबर नहीं कि उसमे तुम्हारे लिए क्या-क्या नुकसान है हालाँकि तुम उसे अपने लिए बेहतर समझकर मांगते हो मगर वह तुम्हारे लिए हानिकारक है इसलिए हमने इस दुआ की स्वीकृति का अमल तत्काल नहीं किया कि तुम्हे कोई नुकसान न हो। अल्लाह के खजाने में किसी चीज की कमी नहीं यदि दुनिया के सारे लोगों को मुँह मांगी चीजे प्रदान कर देगा तो उसके खजाने में कण भर भी कमी न आए क्योंकि खुदा को कुछ लेना देना नहीं पड़ता उसे केवल कुन (हो जा) कहना पड़ता है तो वह हो जाता है। Dua Mangne Ka Sahi Tarika.

Pray Karne Ka Sahi Tarika In Islam written:

नबी सल्ल ने फ़रमाया कि अपने रब से मांगो तुम्हे जिस चीज की जरूरत है चाहे छोटी चीज हो या बड़ी। वह हर चीज प्रदान करता है और जो अल्लाह से दुआ नहीं मांगते अल्लाह उन पर गुस्सा फरमाता है। Dua Mangne Ka Sahi Tarika.


एक जगह नबी सल्ल ने फ़रमाया जब तक कोई आदमी दुआ में जल्दी न करे उसकी दुआ अवश्य कुबूल होती है। जल्दी करना यह है कहने लगे मैंने तो बहुत दुआ की लेकिन खुदा ने कुबूल न की। कुछ पैगंबरों की दुआएं कुबूल होने के बावजूद उसका पता काफी समय बाद चला जैसे हजरत नूह अलै ने जब अपनी कौम के लिए बद्दुआ की तो लिखा कि ४० साल बाद तूफान आया कुछ कहते हैं कि इससे भी अधिक समय के बाद आया था। इसी तरह हजरत मूसा अलै और हजरत हारून अलै ने फ़िरऔन के लिए बद्दुआ की तो वह कुबूल हुई जिसे अल्लाह ने फ़रमाया :

“रब्बना वबअस फ़ीहिम रसूलम मिन्हुम।

यह दुआ कुबूल हो गयी थी लेकिन इसका अमल भी कई सौ साल बाद हुआ। नबी करीम सल्ल ने फ़रमाया की मै अपने बाप हजरत इबाहिम अलै की दुआ हूँ और हजरत ईसा अलै की बशारत हूँ। Dua Mangne Ka Sahi Tarika.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *